शेगाव मे खा पी के हो गये स्वस्थ, सारी जनता परेशान -राज नेता, अधिकारी मस्त= प्रतिनिधि शेखर नागपाल

0
303

. शेगाव शेखर नागपाल की रिपोर्ट भारत एक कृषि प्रधान देश है जिस देश का अन्नदाता एक काश्तकार है उस देश में अन्नदाता अन्नदाता को ही स्टैंप पेपर के लिए लंबी लंबी कतारों में खड़े रहना पड़ता है और ऊपर से धूप यह है हमारे देश के अन्नदाता की हालात दूसरी और कंटेंशन के नाम से पिछले कई महीने से गांधी चौक से से मंदिर की ओर जाने वाला गांधी चौक से रेलवे गेट की ओर जाने वाला कंटेंशन के नाम से नगर पालिका द्वारा बंद कर रखा है शेगाव के मुख्य अधिकारी से बात करने पर पूछा गया कि यह रास्ता क्यों बंद है उनकी तरफ से जवाब मिला कि यह कंटेन जोन है हमारे संवाददाता ने पूछा सरकन 10 जून कब तक है तो मैं बाद में बताता हूं जवाब नहीं दे पाए पुलिस द्वारा इस परिसर की सारी दुकाने पिछले 21 मार्च 20 20 बंद कर रखी है माननीय तहसीलदार से हमारे संवाददाता ने तूने भी इसी तरह का कोई गोलमोल जवाब दिया अधिकारी मस्त जनता परेशान यह शेगाव की यथा किसी अधिकारी का जूता किसी के पैर में नहीं बस अपने ऑफिस में बैठकर जनता पर कोविड 19 का मिले हुए अधिकार हिटलर की तरह हुकुम चला रहे जिससे गरीब जनता सरासर परेशान हो रही है जनता का सवाल है कि अधिकारियों को अपना वेतन मिल रहा है लेकिन जनता अपनी दुकानें बंद करके सरकार को साथ दे लेकिन सरकार भी केंद्र और राज्य एक दूसरे के ऊपर आरोप-प्रत्यारोप करने में व्यस्त है जिससे जैसा चाहा पैसा आरोप लगा दिया जिस अधिकारी को जैसा लगा वैसा काम कर लिया लेकिन इसी तरह शेगाव में खा पी के हो गए स्वस्थ सारी जनता परेशान राजनेता और अधिकारी मस्त

प्रतिनिधी शेखर नागपाल
जनता का रक्षक न्यूज,शेंगाव

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें